होली के कुछ अचूक उपाय

होली के कुछ अचूक उपाय

होली के कुछ अचूक उपाय

१-यदि आपके व्यापार में लगातार गिरावट आ रही है व्यापार चल नहीं रहा है तो होली के दिन पीले कपड़े में काली हल्दी ,11 गोमती चक्र और एक सिक्का चांदी का काले कपड़े में बांधकर होली की अग्नि की 11 बार परिक्रमा करके 108बार मंत्र जपते हुए उस अग्नि में प्रवाहित कर देना चाहिए आपके व्यापार में वृद्धि होने लगेगी।

२- यदि घर में पति पत्नी के बीच आए दिन कलह होती है और ग्रह कलेश से घर में शांति नहीं है घर में नकारात्मक उर्जा का संचार हो गया है तो जब भी होली जल जाए तो होली की अग्नि में आटा और जौ चढ़ाएं जिससे ग्रह कलेश शांत हो जाएगा और घर में सुख शांति पुनः स्थापित हो जाएगी ।

३- यदि आपकी सेहत खराब रहती है और रोग से मुक्ति नहीं मिल रही है तो होलिका दहन के बाद बची हुई राख से थोड़ी राख घर ले आए और उस भभूति को तकिए के नीचे रख दे रोगी स्वस्थ हो जाएगा और पुरानी से पुरानी बीमारियां सही हो जाएंगी ।

४- यदि घर पर बचत नहीं हो रही है और बेवजह पैसे खर्च हो रहे हैं तो बचत करने के लिए होलिका दहन के दूसरे दिन बची हुई राख को एक लाल कपड़े में बांधकर अपनी तिजोरी यह पर्स में रख ले बचत होने लगेगी ।

५- यदि आपको नौकरी और व्यापार में परेशानी आ रही है नौकरी नहीं लग रही है तो होलिका दहन के बाद एक नारियल मंदिर में चढ़ाए या उस नारियल को होलिका दहन वाले स्थान पर भी चढ़ा सकते हैं ।

६- यदि आपके बच्चे का मन पढ़ाई में नहीं लगता हो और मेहनत के बाद भी फल नहीं मिल रहा हो तो उस बच्चे के हाथ से नारियल पान सुपारी का दान होलिका के स्थान पर कराएं या होलिका में डाल दें बच्चे का मन पढ़ाई में लगने लगेगा और उसे अपेक्षित परिणाम की प्राप्ति होगी ।

७- यदि किसी व्यक्ति ने आपका धन मार लिया है या आपका धन लेकर वापस नहीं कर रहा है तो जिस जगह होली का दहन हो रहा हो तो वहां पर एक अनार की लकड़ी पर उस आदमी का नाम लिखकर उसके ऊपर हरा गुलाल डालकर होलिका में डाल दें और धन वापस पाने की होलिका माता से प्रार्थना करें आपका धन अतिशीघ्र वापस मिल जाएगा ।

८- वास्तु दोष से मुक्ति पाने के लिए होलिका दहन के अगले दिन सर्वप्रथम उठकर स्नान कर स्वच्छ होकर अपने इष्टदेव को गुलाल अर्पित करें और अपने इष्ट देव का निवास स्थान ईशान कोण में रख कर पूजन करें यह उपाय करने से ग्रह दोष वास्तु दोष समाप्त हो जाता है और घर में शांति सुख सुविधा धनेश्वरी की वर्षा होती है ।

९- यदि आपको हर कार्य में बार बार आर्थिक हानि का सामना करना पड़ता है और धन की कमी होती रहती है तो होलिका दहन की शाम को आप अपने घर के मुख्य द्वार पर गुलाब छिड़ककर आटे का दो मुखी दीपक बनाकर जलाना चाहिए इस दीपक को जलाने से आर्थिक हानि दूर हो जाती है और मानसिक रुप से संतुष्टि मिलती है ।

१०- अगर व्यापार में वृद्धि नहीं हो रही है तो होली के पहले पड़ने वाले शनिवार को एक पेड़ ढूंढ ले जहां चमगादड़ निवास करते हो और उस पेड़ की डाली को सूर्योदय से पूर्व तोड़ ले रात में पूजन के कुछ समय बाद उस टहनी के पत्तों को तोड़कर अपनी गद्दी या तिजोरी के नीचे रखना चाहिए व्यवसाय में खूब वृद्धि होगी और धन प्राप्ति होगी ।

होली पर वशीकरण तांत्रिक प्रयोग से बचाव –

१-यदि आपको प्रतीत होता है कि किसी ने आपके ऊपर तांत्रिक प्रयोग करवाया है या कोई टोटका तंत्र मंत्र का प्रयोग आपके ऊपर किया गया है तो होली दहन के समय देसी घी में दो लौंग एक पान के पत्ते में रख कर उसमें थोड़ी मिश्री मिलाकर इन सभी वस्तुओं को होली के जलते समय डाल दें और अगले दिन होली की राख को एक चांदी के ताबीज में भरकर गले में धारण कर लें आपके ऊपर किए गए तांत्रिक मंत्र तंत्र प्रयोग निष्क्रिय हो जाएंगे और आपके ऊपर पुनः कोई प्रयोग काम नहीं होगा ।

२- होली के दिन टोना करने के लिए सफेद खाद्य पदार्थों का प्रयोग किया जाता है अतः होलिका दहन वाले दिन सफेद खाद्य पदार्थों का सेवन किसी के द्वारा दिए जाने पर नहीं करना चाहिए

३- टोना टोटके का प्रयोग सबसे अधिक सर पर होता है सर को हमेशा ढक कर रखना चाहिए खासकर होली के दिन।

४- किसी भी टोने टोटके से बचने के लिए होली पर पूरे दिन आप अपने जेब में काले कपड़े में 3लौंग बांध कर रखें और जलती हुई होली में उसे डाल दे यदि पहले से कोई टोटका होगा तो वह खत्म हो जाएगा ।

वशीकरण समाप्त करना –

यदि किसी व्यक्ति के ऊपर वशीकरण किया गया हो या उच्चाटन सम्मोहन आदि क्रियाएं की गई हो तो उस व्यक्ति को होलिका की राख दूसरे दिन लाकर पूरे शरीर में लगा कर गर्म जल से स्नान करना चाहिए वशीकरण का प्रभाव समाप्त हो जाता है और व्यक्ति वशीकरण एवं अन्य टोने टोटके जादू आदि से मुक्त हो जाता है ।

वशीकरण-

यदि आपको अपने पति को अपने वश में करना है और दूसरी स्त्री से उसका प्रेम समाप्त करवाना है तो होली के दिन होलिका में सात गोमती चक्र लेकर सात बार प्रक्रिमा करें और प्रत्येक परिक्रमा में एक एक गोमती चक्र अपने पति का नाम लेते हुए डाल दें आपके पति आपके वश में हो जाएंगे और दूसरी पत्नी या दूसरी स्त्री का परित्याग कर देंगे ।

मंत्र प्रयोग

धन के लिए

ॐ नमोः धनदायः स्वाहा

इस मंत्र को जपने से धन वृद्धि होती है इस मंत्र का जप होली की रात्रि में करना चाहिए ।

रोग समाप्त के लिए

ॐ नमोः भगवतः रुद्रः मार्तकः माधयः संस्थितायः मम शरीर् अमृतः कुरू कुरू स्वाहा

होलिका की परिक्रमा करते समय इस मंत्र के जपने से रोग से मुक्ति हो जाती है।

यदि आपके पास वेद-पुराण, कुंडली या हिन्दू संस्कृति से सम्बंधित सवाल हो तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं, हमारा ईमेल id है info@jaymahakaal.com

साथ ही आप हमारे फेसबुक पेज www.facebook.com/JayMahakal01, ट्विटर, और इंस्टाग्राम @jaymahakal01 को like और share करें और नित नई जानकारियो के लिए हमसे जुड़े रहिये और विजिट करते रहिए।

www.jaymahakaal.com

जय माँ। जय महाकाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *