मंगल चतुर्थी: उपाय एवं पूजन तिथि

Ganpati Bappa

मंगल चतुर्थी: उपाय एवं पूजन तिथि

इस बार ३ अप्रैल २०१८ मंगलवार को शाम ०४.४४ से ०४ अप्रैल २०१८ बुधवार को शाम ०५.३२ तक वैशाख मास (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार चैत्र मास) के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी है। इस दिन भगवान श्रीगणेश को खुश करने के लिए उपवास किया जाता है। शाम को चंद्रदेव के साथ पूजा की जाती है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, इस दिन कुछ उपाय करें तो दुर्भाग्य दूर हो सकता है।

चतुर्थी तिथि पर भगवान श्रीगणेश का शुद्ध पानी से अभिषेक करने से धन लाभ हो सकता है। साथ में गणपति अथर्व शीर्ष का पाठ भी करें ।

चतुर्थी तिथि पर गणेश यंत्र की स्थापना अपने घर पर करें ।इसके प्रभाव से आपके घर में सुख-शांति बनी रहती है ।

यदि लड़के के विवाह में परेशानी आ रही है तो चतुर्थी तिथि पर भगवान श्रीगणेश को पीले रंग की मिठाई का भोग लगाएं ।

भगवान श्रीगणेश को चतुर्थी तिथि पर शुद्ध घी और गुड़ का भोग लगाएं ।बाद में ये घी व गुड़ गाय को खिला दें ।इस उपाय से धन लाभ हो जाता है ।

चतुर्थी तिथि पर व्रत रखें ।शाम को भगवान श्रीगणेश को तिल के लड्डू का भोग लगाएं ।इसी प्रसाद से व्रत खोलें ।इससे दांपत्त जीवन में सुख बढ़ता है ।

भगवान श्रीगणेश को चतुर्थी तिथि को हल्दी की पांच गांठ श्री गणाधिपतये नम: मंत्र बोलते हुए अर्पित करें ।इससे कार्य में प्रगति की संभावना रहती हैं ।

चतुर्थी तिथि पर दूर्वा से श्रीगणेश बनाकर उनकी पूजा करें ।ऐसा करने से रुके हुए काम आसानी से पूरे हो जाते हैं ।

चतुर्थी तिथि पर कांसे के दीपक में गाय का शुद्ध घी डालकर भगवान श्रीगणेशजी की आरती करें ।इससे कानूनी मामलों में जीत की संभावना बढ़ जाती हैं।

०३ अप्रैल २०१८ मंगलवारी चतुर्थी है ।
चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है पुण्यकाल : (शाम ०४.४४ से सूर्योदय तक)

?बिना नमक का भोजन करें

?मंगल देव का मानसिक आह्वान करो

?चन्द्रमा में गणपति की भावना करके अर्घ्य दें

कितना भी कर्ज़दार हो काम धंधे से बेरोजगार हो रोज़ी रोटी तो मिलेगी और कर्जे से छुटकारा मिलेगा।

मंगलवार चतुर्थी :
भारतीय समय के अनुसार (सूर्योदय से ०३ अप्रैल २०१८ मंगलवार को शाम ०४.४४ से ०४ अप्रैल सूर्योदय तक चतुर्थी है, इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के २१ नाम से सुमिरन करे और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करे,शुभ संकल्प करे तो आप सकल ऋण से मुक्त हो सकते है।

यदि आपके पास वेद-पुराण, कुंडली या हिन्दू संस्कृति से सम्बंधित सवाल हो तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं, हमारा ईमेल id है info@jaymahakaal.com

साथ ही आप हमारे फेसबुक पेज www.facebook.com/JayMahakal01, ट्विटर, और इंस्टाग्राम @jaymahakaal01 को like और share करें और नित नई जानकारियो के लिए हमसे जुड़े रहिये और विजिट करते रहिए।www.jaymahakaal.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *