Tag: #Rudra

महामृत्युंजय मंत्र के ८ विशेष प्रयोग

महामृत्युञजय मंत्र भगवान रूद्र का एक सर्वशक्तिशाली और साक्षात् प्रभाव देने वाला सिद्ध मंत्र है

Continue Reading

क्यों किया जाता है शिव का रुद्राभिषेक?

धर्मशास्त्रों के मुताबिक भगवान शिव का पूजन करने से सभी मनोकामनाएं शीघ्र पूरी होती हैं।

Continue Reading

रुद्राक्ष धारण करने का सही तरीका

रुद्राक्ष स्वभाव से ही प्रभावी होता है, लेकिन यदि उसे विशेष पद्धति से सिद्ध किया जाए तो उसका प्रभाव कई गुना अधिक हो जाता है। अगर जप के लिए रुद्राक्ष की माला सिद्ध करनी हो तो

Continue Reading

भगवान शिव के जन्म की कहानी

तब ब्रह्मा ने शिव का नाम ‘रूद्र’ रखा जिसका अर्थ होता है ‘रोने वाला’।

Continue Reading

12 mukhi

१२ मुखी रुद्राक्ष – लाभ, शक्तिया और महत्व

बारह मुखी रुद्राक्ष के अधिपति देवता भगवान् सूर्य को माना जाना है। जिस प्रकार सूर्य के बिना जीवन संभव नहीं है, सूर्य की रश्मिया ही हमें सिखाती है कि जो भी है वो आज और अभी है, सूर्य जिस प्रकार हमें यह शिक्षा प्रदान

Continue Reading

Rudraksh

११ मुखी रुद्राक्ष – लाभ, शक्तिया और महत्व

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष रूद्र के ग्यारहवे अवतार हनुमान जी का प्रतिनिधित्व करता है, इस रुद्राक्ष के धारक को शनि गृह से होने वाली विपत्तियों से छुटकारा मिलता है और शनि की साढ़े साती के समय भी धारक को नुक्सान नहीं उठाना पड़ता है।

Continue Reading

10-Mukhi-Rudraksha

९ मुखी रुद्राक्ष लाभ, शक्तियां और महत्व

नव मुखी रुद्राक्ष माँ दुर्गा द्वारा शाषित रुद्राक्ष है, नव मुखी रुद्राक्ष के बारे में पुराणों में जो वर्णन मिलता है उसके अनुसार नव मुखी रुद्राक्ष नव दुर्गा की शक्तियों को अपने अंदर समाहित करता है, माँ दुर्गा या शक्ति रूप के पुजारियों को यह रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए, यह रुद्राक्ष सारे पापो से दूर करते हुए हमें भौतिक सुखो की प्राप्ति कराता है और मोक्ष के मार्ग पर अग्रसर करता है

Continue Reading

छह मुखी रुद्राक्ष के महत्त्व, लाभ और धारण मन्त्र

एक छह मुखी रूद्राक्ष की सतह पर छह ऊर्ध्वाधर रेखाएं (मुख) होती हैं इस रूद्राक्ष का प्रतिनिधित्व करने वाला देवता भगवान कार्तिकेय है जो भगवान शिव के दूसरे पुत्र और दिव्य सेना के कमांडर हैं। इसलिए इस इस रुद्राक्ष के धारक को भगवान कार्तिकेय के आशीर्वाद से साहस और ज्ञान उपहार में ही मिल जाता है।

Continue Reading

पाँच मुखी रुद्राक्ष के महत्त्व, लाभ और धारण मन्त्र

पंचमुखी रुद्राक्ष सबसे ज्यादा मिलने वाला रुद्राक्ष है, पंचमुखी रुद्राक्ष में भगवान शिव की सभी शक्तियां समाहित होती है। इस धरा के पंच तत्व और पांच पांडव इस रुद्राक्ष के देव माने गए हैं। इस रुद्राक्ष को धारण करने से वर्जित कार्यो द्वारा उत्प्पन्न पापो से मुक्ति दिलाता है।

Continue Reading

चार मुखी रुद्राक्ष के महत्त्व, लाभ और धारण मन्त्र

४ मुखी रुद्राक्ष ४ वेदो का प्रतिनिधित्व करते है, यह रुद्राक्ष गुरु बृहस्पति और माँ सरस्वती की शक्तियों का प्रतिनिधि भी माना जाता है, गुरु बृहस्पति की ऊर्जा से भरपूर यह रुद्राक्ष पहनने वाले को ज्ञान के चारो आयामों को खोल देता है।

Continue Reading