दिनांक 12.04.2018 का पंचांग एवं राशिफल

Rashifal

दिनांक 12.04.2018 का पंचांग एवं राशिफल

??????????
*********|| जय महाकाल ||*********
??? अथ पंचांगम् ???

?? आंग्ल मतानुसार :-
12 अप्रैल सन 2018 ईस्वी, दिन गुरुवार।

?? भारतीय मतानुसार
वैशाख , कृष्ण पक्ष
एकादशी
“””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल )

तिथि———एकादशी08:13:00 तक
पक्ष—————————–कृष्ण
नक्षत्र———शतभिषा27:17:47
योग—————शुक्ल29:22:20
करण————-बालव08:12:59
करण————कौलव20:44:01
वार—————————गुरूवार
माह—————————वैशाख
चन्द्र राशि——————— कुम्भ
सूर्य राशि————————मीन
रितु——————————वसंत
आयन———————उत्तरायण
संवत्सर———————-विलम्बी
संवत्सर (उत्तर)———-विरोधकृत
विक्रम संवत—————–2075
विक्रम संवत (कर्तक)——-2074
शाका संवत——————1940
सूर्योदय—————-05:59:21
सूर्यास्त—————–18:41:01
दिन काल————-12:41:40
रात्री काल————-11:17:16
चंद्रास्त—————–15:15:37
चंद्रोदय—————–28:20:31

लग्न—-मीन 27°57′ , 357°57′

सूर्य नक्षत्र———————-रेवती
चन्द्र नक्षत्र—————–शतभिषा
नक्षत्र पाया———————ताम्र

??? पद, चरण ???

गो—-शतभिषा 08:08:27

सा—-शतभिषा 14:34:09

सी—-शतभिषा 20:57:17

सू—-शतभिषा 27:17:47

??? ग्रह गोचर ???

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद
=======================
सूर्य=मीन 27 ° 57 , रेवती ,4 ची
चन्द्र=कुम्भ 06 ° 51′ शतभिषा , 1 गो
बुध=मीन 11 ° 11′ उ०भा० ‘ 3 झ
शुक्र=मेष 20 ° 25 ,भरणी , 3 ले
मंगल=धनु 19 °53 ‘ पूर्वाषाढ़ा ‘ 2धा
गुरु=तुला 27 ° 28’ विशाखा , 3 ते
शनि=धनु 15 ° 09’पू o षा o ‘1भू
राहू=कर्क 17 ° 45 ‘आश्लेषा , 1 डी
केतु=मकर 17 ° 45’ श्रवण, 3 खे

???शुभा$शुभ मुहूर्त???

राहू काल 13:55 – 15:31अशुभ
यम घंटा 05:59 – 07:35अशुभ
गुली काल 09:10 – 10:45अशुभ
अभिजित 11:55 -12:46शुभ
दूर मुहूर्त 10:13 – 11:04अशुभ
दूर मुहूर्त 15:18 – 16:09अशुभ

?पंचक अहोरात्र अशुभ

?चोघडिया, दिन
शुभ 05:59 – 07:35शुभ
रोग 07:35 – 09:10अशुभ
उद्वेग 09:10 – 10:45अशुभ
चाल 10:45 – 12:20शुभ
लाभ 12:20 – 13:55शुभ
अमृत 13:55 – 15:31शुभ
काल 15:31 – 17:06अशुभ
शुभ 17:06 – 18:41शुभ

?चोघडिया, रात
अमृत 18:41 – 20:06शुभ
चाल 20:06 – 21:30शुभ
रोग 21:30 – 22:55अशुभ
काल 22:55 – 24:20*अशुभ
लाभ 24:20* – 25:44*शुभ
उद्वेग 25:44* – 27:09*अशुभ
शुभ 27:09* – 28:34*शुभ
अमृत 28:34* – 29:58*शुभ

?होरा, दिन
बृहस्पति 05:59 – 07:03
मंगल 07:03 – 08:06
सूर्य 08:06 – 09:10
शुक्र 09:10 – 10:13
बुध 10:13 – 11:17
चन्द्र 11:17 – 12:20
शनि 12:20 – 13:24
बृहस्पति 13:24 – 14:27
मंगल 14:27 – 15:31
सूर्य 15:31 – 16:34
शुक्र 16:34 – 17:38
बुध 17:38 – 18:41

?होरा, रात
चन्द्र 18:41 – 19:37
शनि 19:37 – 20:34
बृहस्पति 20:34 – 21:30
मंगल 21:30 – 22:27
सूर्य 22:27 – 23:23
शुक्र 23:23 – 24:20
बुध 24:20* – 25:16
चन्द्र 25:16* – 26:13
शनि 26:13* – 27:09
बृहस्पति 27:09* – 28:05
मंगल 28:05* – 29:02*
सूर्य 29:02* – 29:58

नोट– दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये, उद्वेगे थलगार। शुभ में स्त्री श्रृंगार करे, लाभ में करो व्यापार॥
रोग में रोगी स्नान करे, काल करो भण्डार। अमृत में काम सभी करो, सहाय करो कर्तार॥
अर्थात- चर में वाहन, मशीन आदि कार्य करें। उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें। शुभ में स्त्री श्रृंगार, सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें। लाभ में व्यापार करें। रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें। काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है। अमृत में सभी शुभ कार्य करें।

?दिशा शूल ज्ञान——-दक्षिण
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा केला खाके यात्रा कर सकते हैl
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु चl भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय:ll

?अग्नि वास ज्ञान -:

15 + 11 + 5 + 1= 32 ÷ 4 = 0 शेष
पृथ्वी पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

? शिव वास एवं फल -:

26 + 26 + 5 = 57 ÷ 7 = 1 शेष

कैलाश वास = शुभ कारक

?? विशेष जानकारी ??

*वरुथिनी एकादशी व्रत (सर्वेषां)

*श्री वल्लभाचार्य जयन्ती

???शुभ विचार???

धनधान्मप्रयोगेषु विद्यासंग्रहणेषु च। आहारे व्यवहारे च त्यक्तलज्जा सुखी भवेत्।।
।।चा o नी o।।

जो व्यक्ति आर्थिक व्यवहार करने में, ज्ञान अर्जन करने में, खाने में और काम-धंदा करने में शर्माता नहीं है वो सुखी हो जाता है।

? आरोग्यं :-
ब्राम्ही के उपयोग एवं उपचार :-

मिर्गी (अपस्मार) होने पर :-
14 से 28 मिलीलीटर ब्राह्मी की जड़ का रस या 3 से 6ग्राम चूर्ण को दिन में3 बार 100 से 250 मिलीलीटर दूध के साथ लेने से मिर्गी का रोग ठीक हो जाता है।

धातु क्षय (वीर्य का नष्ट होना) :-
15 ब्राह्मी के पत्तों को दिन में 3 बार सेवन करने से वीर्य के रोग का नष्ट होना कम हो जाता है।

आंखों की बीमारी में :-
3 से 6 ग्राम ब्राह्मी के पत्तों को घी में भूनकर सेंधानमक के साथ दिन में 3 बार लेने से आंखों के रोग में लाभ होता है।

आंखों का कमजोर होना :-
3 से 6 ग्राम ब्राह्मी के पत्तों का चूर्ण भोजन के साथ लेने से आंखों की कमजोरी दूर हो जाती है।

स्मरण शक्ति वर्द्धक :-
10 मिलीलीटर सूखी ब्राह्मी का रस, 1 बादाम की गिरी, 3 ग्राम कालीमिर्च को पानी से पीसकर 3-3 ग्राम की टिकिया बना लें। इस टिकिया को रोजाना सुबह और शाम दूध के साथ रोगी को देने से दिमाग को ताकत मिलती है।

??दैनिक राशिफल??

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत्।।

?मेष
नीति निर्धारण में जल्दीबाजी न करें। वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। धनार्जन होगा। मान-सम्मान में वृद्धि होगी।

?वृष
तंत्र-मंत्र में झुकाव बढ़ेगा। राजकीय सहायता मिलेगी। झंझटों में न पड़ें। व्यवसाय ठीक चलेगा। जोखिम न लें।

?मिथुन
जल्दबाजी न करें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। क्रोध पर नियंत्रण रखें। चोट व चोरी से हानि संभव है।

?कर्क
वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। राजकीय बाधा दूर होगी। धनलाभ होगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

?सिंह
बेरोजगारी दूर होगी। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। धनलाभ होगा। संपत्ति के कार्य बनेंगे। जोखिम न लें।

?‍♀कन्या
किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का मौका मिलेगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। आय बढ़ेगी। प्रमाद न करें।

तुला
मेहनत अधिक होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। वाणी पर नियंत्रण रखें। प्रयास अधिक करना पड़ेंगे। धैर्य रखें।

?वृश्चिक
घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। मेहनत रंग लाएगी। धनलाभ बढ़ेगा। प्रसन्नता रहेगी। यात्रा लाभदायक रहेगी।

?धनु
शुभ सूचना प्राप्त होगी। प्रसन्नता बढ़ेगी। संगी-साथियों से मेल बढ़ेगा। धनलाभ होगा। यात्रा संभव है।

?मकर
भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। व्यय बढ़ेगा। यात्रा सफल रहेगी। नौकरी में तरक्की संभव है।

?कुंभ
वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। फालतू खर्च बढ़ेगा। कुसंगति से बचें। जोखिम न लें।

?मीन
व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। रुका हुआ धन प्राप्त होगा। निवेश में जोखिम न लें। प्रसन्नता रहेगी।

?आपका दिन मंगलमय हो?
?????????
।। ? शुभम भवतु ? ।।

???? भारत माता की जय ??

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *