जादुई लाभ २ मुखी रुद्राक्ष के

जादुई लाभ २ मुखी रुद्राक्ष के

दो मुखी रुद्राक्ष सीधे भगवान शिव और माँ पारवती का स्वरुप है। इसे अर्धनारीश्वर का स्वरुप भी कहा गया है। इस रुद्राक्ष को धारण करने से शिव और शक्ति का आशीर्वाद प्राप्त होता है। वैसे तो इस रुद्राक्ष की उत्पति नेपाल, इंडोनेशिया व् भारत में कई स्थानों पर होती है लेकिन नेपाल का दो मुखी रुद्राक्ष सबसे श्रेष्ठ माना गया है। दो मुखी रुद्राक्ष हर उस जातक को धारण करना चाहिए जो खुद से और दूसरों से अपने रिश्तो को मजबूत करना चाहते हो। दो मुखी रुद्राक्ष का ग्रह चन्द्रमा है जो की धारक को ख़ुशी, धन और भावनात्मक स्थिरता प्रदान करता है।
महत्व
१। एकजुटता और एकता बढ़ाता है।
२। सभी प्रकार के रिश्तो में सामंजस्य स्थापित करता है।
३। भावनात्मक स्थिरता प्रदान करता है।
४। चंद्र ग्रह के नुकसानों से बचाव करता है।
५। पति पत्नी के आपसी मतभेदों को कम करके गृहस्थ सुख की बढ़ोतरी करता है।

दो मुखी रुद्राक्ष के लाभ:
१। दो मुखी रुद्राक्ष हर उस दंपत्ति के लिए फायदेमंद है जिन्हे बच्चे होने में परेशानी हो रही हो।
२। उन जातको के लिए फायदेमंद है जो खुद के लिए एक उचित जीवनसाथी की तलाश में हो।
३। आंतरिक सुख, शांति और तृप्ति देता है।
४। मन और भावनाओं के लिए चिकित्सा ऊर्जा प्रदान करता है।
५। चंद्र ग्रह के स्वामित्व के कारण रचनात्मकता को बढ़ावा देता है।

चिकित्स्कीय लाभ
१। किडनी और आंत से संबंधित बीमारियों को ठीक करता है।
२। यौन रोगों और बांझपन को ठीक करता है।
३। मांसपेशियों को मजबूत करता है

चक्र से सम्बन्ध
दो मुखी रुद्राक्ष हमारे स्वाधिष्ठान चक्र से संबंधित है, जो की हमारी रचनात्मकता, सृजन करने की शक्ति इत्यादि से समन्धित है, स्वाधिष्ठान का असंतुलन हमारी रचनात्मकता एवं सृजन शक्ति को प्रभावित करता है।

राशि
दो मुखी रुद्राक्ष कर्क राशि के जातको के लिए अत्यंत शुभ होता है।

मन्त्र
ॐ नमः शिवाय
ॐ ह्रीं नमः
विशेष
दो मुखी रुद्राक्ष को धारण करने का मंत्र “ॐ नमः”, “ॐ नमः शिवाय” और “ॐ नमः दुर्गाए” है। “ॐ अर्ध्नारिश्वराए नमः” इस सर्वश्रेष्ठ मंत्र को अगर 5 माला रोज़ कर लिया जाए तो शिव और माँ पारवती की विशेष कृपा होने लग जाती है।

यदि आपके पास कोई भी रुद्राक्ष से संबंधित समस्या हो या सवाल हो तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं, हमारा ईमेल id है askus@jaymahakaal.com

साथ ही आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, और इंस्टाग्राम पेज @jaymahakaal01 को like और share करें और नित नई जानकारियो के लिए हमसे जुड़े रहिये और विजिट करते रहिए www.jaymahakaal.com

जय महाकाल।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *