Author: admin

नवरात्रि के तीसरे दिन पूजी जाती हैं माँ चंद्रघंटा, जानिए महत्व।

इनकी उपासना करने से साधक को सिंह का पराक्रम और निर्भयता प्राप्त होती है। इनके घंटे की ध्वनि सदा अपने भक्तो की भूतो एवं प्रेतबाधा से रक्षा करती है। इनके उपासको को देख कर शान्ति और सुख का अनुभव करते है।

Continue Reading

Quick recipe to make during your coronavirus self-quarantine.

Self-quarantine has given us all the time we need to catch up with ourselves and our loved ones.

Continue Reading

नवरात्रि के दूसरे दिन पूजी जाती हैं माँ ब्रह्मचारिणी, जानिए महत्व।

ब्रम्ह का मतलब होता है तपस्या और चारिणी अर्थात आचरण करना, मान्यता के अनुसार माँ ने भगवान् शिव को पति रूप में पाने के लिए कठोर तपस्या की, यही वजह है की उनका नाम ब्रम्ह्चारिणी पड़ा।

Continue Reading

नवरात्रि के पहले दिन पूजी जाती हैं मां शैलपुत्री, जानिए क्या है उनका महत्व?

माँ शैलपुत्री की साधना का सम्बन्ध चन्द्रमा से है, चन्द्रमा का सम्बन्ध हमारी कुंडली के चौथे भाव से होता है अतः देवी शैलपुत्री की साधना का सम्बन्ध व्यक्ति के सुख सुविधा, निवास स्थान, माता, पैतृक संपत्ति, चल-अचल संपत्ति, वाहन सुख इत्यादि से है।

Continue Reading

NAVRATRI KNOCKING:
Turn Your Fasting into Feasting

Fasting serves as a way to pay gratitude to the goddess. But a more scientific explanation is that it helps the body detoxify itself.

Continue Reading

कैसे नवरात्रि का पर्व कोरोना से दूर रहने में कारगर साबित होगा?

धर्म निरपेक्ष या खुद को पढ़े लिखे साबित करने की होड़ में हम स्वयं ही अपने शरीर और पर्यावरण से खिलवाड़ करते जा रहे। जिनके फलस्वरूप कभी चिकन गुनिया तो कभी कोरोना जैसे विषाणुओ के हमले में हम सब अपने आप को असहाय महसूस करते है।

Continue Reading

चैत्र नवरात्र: घटस्थापना , शुभ महूरत।

हिन्‍दू कैलेंडर के अनुसार हर साल चैत्र महीने के पहले दिन से ही नव वर्ष की शुरुआत हो जाती है। साथ ही इसी दिन से चैत्र नवरात्रि भी शुरू हो जाती हैं। इसे महाराष्ट्र में गुड़ी पड़वा के तौर पर भी जाना जाता है।

Continue Reading

The science behind Modi’s clapping on 22nd March

The science behind India’s Prime Minister Narendra Modi ji’s clapping on 22 March. Indian tradition and culture is rich and unbeatable. We have always proved world that Indian culture is one of the best culture and we are proud of it.

Continue Reading

ज्योतिष – एक श्रापित विद्या क्यों है?

अगर ईश्वर ने आपको एक शक्ति दी है, तो कुछ जिम्मेदारी भी है निभाने के लिए। एक ज्योतिषी का दायित्त्व है कि अपने यजमान को ढाँके। ना की उसकी आर्थिक उगाही करें।

Continue Reading

क्या ब्रह्मा ने अपनी पुत्री सरस्वती से किया था विवाह?

परमपिता ब्रह्मा जी एवं मांँ सरस्वती की इस कल्पना युक्त कहानी में भी जो कुछ रहस्य छुपा हुआ है वह पूर्ण सत्यता युक्त ही है।

Continue Reading