Month: January 2020

क्यों करते हैं बसंत पंचमी पर माँ सरस्वती की आराधना?

माना जाता है कि बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने से विद्यार्थियों को बुद्धि और विद्या का वरदान प्राप्त होता है।

Continue Reading

The ultimate guide for the aquarius people in your life.

Aquarius is the last air sign of the zodiac. Aquarius is defined by the water bearer, the mystical healer who showers water or life, upon the land. 

Continue Reading

WHAT IS THE REASON BEHIND HAIRCUT AND SHAVING RESTRICTION ON SOME SPECIFIC DAYS?

Well there are two type of belief behind this custom (tradition). One is traditional belief i.e. what people believe and other is scientific belief.

Continue Reading

कैसे जीवन में प्यार और खुशियां लाता है रोज क्वार्ट्ज़? भाग – २

रोज क्वार्ट्ज़ का कोमल गुलाबी उद्गम दिल के उन दर्दो को ठीक करता जो किसी भावनात्मक कारणों से ह्रदय चक्र को दूषित कर चूका हो,

Continue Reading

कुंडली विश्लेषण से भी अनिवार्य है – जन्म कुंडली।

हम केवल एक माध्यम हैं आपको आपके लेख बताने वाले जबकि आपकी जन्म कुंडली वो किताब है जो सब जानती है

Continue Reading

How can ‘Reiki’ heal broken relationship?

In order to improve the personal bonding between you and your loved ones, follow this process.

Continue Reading

रत्नों में रत्न ‘नवरत्न’!

हिंदू धर्म, जैन धर्म, बौद्ध धर्म,सिख धर्म तथा अन्य धर्मों में नवरत्न आभूषणों का बड़ा ही ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व है।

Continue Reading

कैसे जीवन में प्यार और खुशियाँ लाता है रोज़ क्वार्ट्ज़? भाग – १

ऐसे ही बहुमूल्य रत्नो और क्रिस्टल्स में एक नाम आता है रोज क्वार्ट्ज़ का, जो कि मनुष्य के मन में प्रेम भावना जागृत करने में चमत्कारिक रूप से कार्य करता है।

Continue Reading

क्यों हैं गणेश सब से बुद्धिमान देवता?

सभी देवताओ को कहा गया कि वे सभी अपने-अपने वाहनों पर बैठकर इस पूरे ब्रह्माण्ड का चक्कर लगाकर आएं। इस प्रतियोगिता में जो भी सर्वप्रथम ब्रह्माण्ड की परिक्रमा कर शिवजी के पास पहुंचेगा, वही सर्वप्रथम पूजनीय माना जाएगा।

Continue Reading

मकर संक्रांति 14 या 15 को, दूर कीजिए उलझन।

सूर्य के मकर में प्रवेश के समय तुला लग्न जागृत रहेगा और नक्षत्र पूर्वाफाल्गुनी होगा इसलिए ज्योतिषीय दृष्टि से इसे उग्र संक्रांति भी माना जाएगा।

Continue Reading