कुछ रोचक जानकारी वास्तु शास्त्र से

Rashi

कुछ रोचक जानकारी वास्तु शास्त्र से

वास्तुशास्त्र: सुबह घर के मुख्य दरवाजे पर करें ये 1 काम, होगी धनवर्षा, घर-परिवार रहेगा खुशहाल

वास्तुशास्त्र के अनुसार जिस घर में वास्तुदोष होता है, वहां कभी सुख-समृद्धि का वास कभी नहीं हो सकता है। घर का यह वास्तु दोष किसी भी दिशा से परिवार के सदस्यों पर प्रहार कर नकारात्मक प्रभाव दिखा सकता है।

घर के इस वास्तु दोष का परिणाम इतना अधिक घातक होता है कि घर के लोग शोक-संतापों से हमेशा ग्रस्त रहते हैं।

किस दिशा में हो घर का मुख्य दरवाजा

वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का मुख्य दरवाजा पूरब और उत्तर दिशा में होना सबसे उत्तम माना गया है। वास्तु शास्त्र के अनुसार पूर्व और उत्तर दिशा का दरवाजा घर में सुख-समृद्धि और शोहरत लाता है। इसके अतिरिक्त पश्चिम या दक्षिण दिशा में भी घर का मुख्य दरवाजा भी शुभ माना जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार पश्चिम अथवा दक्षिण दिशा का दरवाजा घर में खुशहाली का समावेश होता है।

कैसा होना चाहिए घर का मुख्य दरवाजा

इसके अलावे वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य दरवाजा चार भुजाओं की चौखट वाला ही बनवाना चाहिए। वास्तुशास्त्र के अनुसार ऐसा करना घर की खुशहाली में चार चाँद लगाता है। साथ ही घर का वातावरण संस्कारमय दीखता है और घर में धन की देवी लक्ष्मी घर में सदैव विराजमान रहती है।

घर की खुशहाली के लिए ये करें

वास्तु शास्त्र के अनुसार गृहलक्ष्मी को घर के मुख्य दरवाजे पर स्वास्तिक बनाना चाहिए। ऐसा करने से घर में बुरी और नकारात्मक शक्तियों का प्रवेश नहीं होता है। साथ ही यदि गृहस्वामिनी यदि घर के मुख्य दरवाजे पर गंगाजल का छिड़काव करे तो घर में हमेशा सुख-शांति बनी रहती है। इतना ही नहीं यदि घर की महिला मुख्य दरवाजे पर रंगोली सजाए तो उस घर में दरिद्रता का वास कभी नहीं होता है।

मंगलकारी तोरण

वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि प्रतिदिन गृहस्वामिनी घर के मुख्य द्वार पर मंगलकारी तोरण लगाए तो जल्द ही घर का वास्तु दोष दूर होता है। अशोक के पत्तों अथवा आम, पीपल और कनेर के पत्तों को एक धागे से बांध कर उसका तोरण बनाकर मकान के मुख्य द्वार पर लटकाने से घर में सुख-सम्पन्नता आती है। साथ ही घर में धनवृद्धि और मन की शांति प्राप्त होती है। तोरण बांधने से देवी-देवता सारे कार्य निर्विध्न रूप से सम्पन्न कराकर मंगल प्रदान करते हैं। बिल्वपत्र का तोरण बांधने से किसी भी तरह की ऊपरी शक्ति घर में प्रवेश नहीं कर पाती। वास्तु शास्त्र के अनुसार जब घर का मुख्य द्वार सुशोभित होगा तभी प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होती है।

यदि आपके पास वेद-पुराण, कुंडली या हिन्दू संस्कृति से सम्बंधित सवाल हो तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं, हमारा ईमेल id है @jaymahakaal01@gmail.com

साथ ही आप हमारे फेसबुक पेज www.facebook.com/JayMahakal01, ट्विटर, और इंस्टाग्राम @jaymahakal01 को like और share करें और नित नई जानकारियो के लिए हमसे जुड़े रहिये और विजिट करते रहिए।

www.jaymahakaal.com

जय माँ। जय महाकाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *