होली की रात करें ये उपाय, दूर करे अपनी सारी बलाए

होली की रात करें ये उपाय, दूर करे अपनी सारी बलाए

मित्रो, जैसा की हम सब को विदित है की इस वर्ष की होली नजदीक आ चुकी है, अगर आपको लगता है की आप किसी ऊपरी चक्कर में आ गए है या लगातार बीमार रहते है या आपको ऐसा महसूस होता है की आप के ऊपर किसी ने कोई जादू टोना कर रखा है तो हम आपके लिए लाये है एक अचूक टोटका, ये टोटका स्वयं हमारे गुरु द्वारा प्रद्दत है और उन्ही की आज्ञा अनुसार आप सभी के लिए इसे यहाँ प्रस्तुत कर रहा हूँ।

एक श्रीफल अर्थात नारियल ओर नींबू एक कागज की पुड़िया के अंदर राई बांध लें, जिसको काली सरसों भी कहते हैं, कुछ नमक सादा या काला जो उपलब्ध होे, उन सभी को एक साथ बांधे ओर पूरे मकान के अंदर सात बार घुमाए। जो बीमार रहते हैं, विविध प्रकार के जादू टोने के चक्कर में आए हुए हो या कोई प्रेत बाधा हो, किसी प्रकार की हवा के चक्कर में आए हुए हैं, उन सब के लिए सात बार सर से पैर तक उतार लेना चाहिए या घुमा लेना चाहिए, पुरे मकान के अंदर भी घुमाएं, अन्दर से बाहर की ओर घुमाया, फिर रात्रि को जब होलिकादहन होता है उसमें प्रवाहित कर दें जिस तरह होलिका दहन होगी आपके कष्टो का भी निवारण जरूर होगा। यह कार्य आप अपने ऑफिस, दुकान मे भी कर सकते है और अपने मिलने वाले को भी बता सकते है क्योंकि होली फिर बारह महीने बाद आयेगी, शायद किसी का भला हो जाये।

आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है की हमारे सभी मित्र इस टोटके का लाभ उठाएंगे और अपने जानकारों में भी इसका प्रचार करेंगे, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो को इसका फायदा मिले और लोग बेकार में ऐसे लोगो को चक्करो में न पड़े जो सिर्फ हिन्दू संस्कृति या किसी और धर्म के नाम पर लोगो का शोषण कर रहे है।

यदि आपके पास वेद-पुराण, कुंडली या हिन्दू संस्कृति से सम्बंधित सवाल हो तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं, हमारा ईमेल id है @jaymahakaal01@gmail.com

साथ ही आप हमारे फेसबुक पेज www.facebook.com/JayMahakal01,

ट्विटर, और इंस्टाग्राम @jaymahakal01 को like और share करें और नित नई जानकारियो के लिए हमसे जुड़े रहिये और विजिट करते रहिए।

www.jaymahakaal.com

जय माँ। जय महाकाल।

4 thoughts on “होली की रात करें ये उपाय, दूर करे अपनी सारी बलाए

    1. जय महाकाल

      जी अगर आपको जन्मकुंडली कंप्यूटर द्वारा निर्मित चाहिए तो वो आपको मुफ्त उपलब्ध करवा दी जाएगी, हस्तनिर्मित कुंडली हेतु आपको हमारे ब्राम्हणों की फीस अदा करनी पड़ेगी, अपनी सुविधानुसार बताये ताकि हम आपकी सेवा करने का सौभाग्य प्राप्त कर सके।
      जय महाकाल।।

       
      Reply
  1. Squid

    बहुत सुंदर राकेश आपने बहुत रोचक तरीके से अपनी बात रखी आपके लिखने का अंदाज बहुत ही खूबसूरत है

     
    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *