Month: September 2019

इन नौ औषधियों में विराजती है नवदुर्गा, जानिए उनके नाम

नवदुर्गा का अष्टम रूप महागौरी है, जिसे प्रत्येक व्यक्ति औषधि के रूप में जानता है क्योंकि इसका औषधि नाम तुलसी है जो प्रत्येक घर में लगाई जाती है।

Continue Reading

नवरात्र में माँ के स्वरूप के कुछ पूजा एवं नियम

नवरात्रि में माता शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा देवी, कुष्मांडा देवी, स्कंदमाता, माता कात्यायनी, मां कालरात्रि , महागौरी और माता सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है।

Continue Reading

जानिए नवरात्रि में माँ के किस रूप को कौन सा भोग पसंद है?

मां कालरात्रि (Kaalratri) को काली मिर्च, श्‍यामा तुलसी या काले चने का भोग लगाया जाता है. वैसे नकारात्मक शक्तियों से बचने के लिए आप गुड़ का भोग लगा सकते हैं.

Continue Reading

कब से है शारदीय नवरात्रि? जानिए घटस्थापना महुर्त

हिन्‍दू कैलेंडर के अनुसार यह नवरात्रि शरद ऋतु में अश्विन शुक्‍ल पक्ष से शुरू होती हैं और पूरे नौ दिनों तक चलती हैं.

Continue Reading

क्या है श्राध या पितरुपक्ष के नियम ?

श्राद्ध भोजन करते समय मौन रहना चाहिए, मांगने या मना करने का संकेत हाथ से ही करना चाहिए।

Continue Reading

श्राद्ध में कैसे और कब करें तर्पण?

यदि नाना-नानी के परिवार में कोई श्राद्ध करने वाला न हो और उनकी मृत्युतिथि याद न हो, तो आप इस दिन उनका श्राद्ध कर सकते हैं ।

Continue Reading

श्राध पर विशेष- किस दिन क्या करें?

पितृ पक्ष की चतुर्दशी को केवल दुर्मरण(विष-शस्त्रादि) से मृत्यु को प्राप्त हुए का ही श्राद्ध किया जाता है।

Continue Reading

Why we immerse Ganesh idol in flowing water?

It is mentioned in the scriptures, that immersion of Shri Ganesh Idol should necessarily be done in flowing water or a reservoir.

Continue Reading

Tips to attain wealth this Ganesha Utsav

if you are facing trouble in your business or work, go through the tips below to acquire more wealth from Ganpati.

Continue Reading

वववव